तिरंगा और आज़ादी

Updated: Sep 16



तिरंगा और आज़ादी

हम सबका अरमान तिरंगा

आन बान और शान तिरंगा

मर्यादा, सम्मान तिरंगा

आज़ादी का मान तिरंगा

हमने कितने बलिदानो से,

वर्षों से पलते अरमानों के -

बाद इसे हैं पाये हम !

इसके मूल्यों को हम जानें,

आज़ादी की कीमत पहचानें

तब होगा अभिमान तिरंगा!

आन बान और शान तिरंगा !!

हम समदर्शी भाव को जानें,

भाई-भाई का मंत्र पहचानें,

संविधान की मूल आत्मा--

का सम्मान करें हम !

लोकतन्त्र की पहचान करें हम !!

सच्चाई ही है भक्ति का मार्ग --

इस मार्ग को हम अपनाएं –

तब सच्चे देश भक्त कहलाएँ,

सच्चे मन से हमें है सोचना

नहीं चाहिए कोई उद्घोषणा !

जब हम इन मूल्यों को अपनाएँगे

देश एकता के भावों को पनपाएंगे !

अपने लक्ष्यों की खातिर सब

मिलकर हम संघर्ष करेंगे---

तब होगा उत्कर्ष देश का ,

पूरे होंगे सपने सारे आज़ादी के !

अभी तो अपने द्वेष भाव

का----बलिदान जरूरी है,

आज़ादी अभी अधूरी है !

आज़ादी अभी अधूरी है !!

:--- मोहन”मधुर”

51 views1 comment

Recent Posts

See All